Header Ads Widget

2023 में Seo kya hai और Seo कैसे करें detail से जानेंगे।

Seo kya hai, what is seo in hindi: Seo के बारे में बात करे तो यह किसी भी site के लिए काफी important हैं।site की seo इस लिए की जाती है ताकि वह साइट search ranking में अच्छी तरह से रैंक कर सके।

किसी भी site की ranking की बात करे तो उसके लिए उस site की seo कितनी अच्छी से की गई है उसपर depend करती हैं।Seo किसी भी site की ranking को बढ़ाने का काम करती हैं।Seo के बिना site की रैंकिंग possible नही हैं।

Seo की बात करे तो इसका पूरा मतलब search engine optimisation होता हैं।यह आपकी site की search ranking को बढ़ाने का काम करती हैं।कोई भी site जो आज google के first page में आने के लिए लड़ाई कर रही है उसे कही न कही seo का सामना करना ही पड़ता हैं।

Seo एक ऐसा word है जो केवल और केवल blogger और digital marketer अच्छी तरह से जानते हैं क्योंकि इनको हर रोज इनसब से गुजरना पड़ता है।कोई भी digital marketer और blogger कहे कि वो एक seo expert है तो आप कभी भी यकीन न करें।

Google अपनी search ranking को बेहतरीन और अच्छा बनाने के लिए तरह तरह के updates को लाता रहता हैं।कोई पुरानी trick जो पहले काम आती थी वो अब काम करना बंद कर देती हैं।आज जो भी site आप google search में first page पर देखते है उसकी अच्छी से seo की गई हैं तभी वह 1st page पर rank कर रही हैं।



Seo kya hai|Seo क्या है?

Seo से आप शायद समझ गए होंगे कि seo का मतलब किसी भी site की google में search appearance किस position पर हैं उस चीज़ को indicate करता हैं।जिस भी site की SEO अच्छी होगी उस site की search ranking भी बेहतरीन होगी।

Seo kya hai

किसी भी चीज़ को type करके google में search करते हैं तो आपको उससे related कई सारे results मिलते हैं।वो सारे result जो google में आपको नजर आती हैं वो सारे google के 1st page पर rank करने की मुख्य वजह केवल और केवल उसपर की गई search engine optimisation(SEO) हैं।

Seo ka full form क्या हैं?

Seo का full form Search engine optomisation होता हैं।


SEO की आवश्यकता क्यों है|Why We Need SEO for website.

जैसे-जैसे व्यवसाय, उत्पाद और सेवाएं, शिक्षा, आदि online होता जा रहा हैं वैसे ही website की अवश्यक्ता भी बढ़ता जा रहा हैं।Website को बनाना और उसे search engine जैसे कि Google, Bing, Yandex इत्यादि में रैंक कराना काफी मुश्किल काम हो जाता हैं।Website को search engine की visibility में लाने के लिए SEO करना काफी जरूरी हैं।

SEO एक website का जरूरत बन चुका हैं।किसी business या अन्य शिक्षा, सेवाएं से जुड़ी website की महत्वपूर्ण pages, और posts को google serp के first page पर लाने के लिए SEO technique का इस्तेमाल करना काफी जरूरी हैं।

SEO करने से website की search ranking बढ़ती हैं और हमारे website के pages search result के 1st या 2nd pages में दिखना शुरू हो जाता है जिसका ultimate फायदा हमारे website में organic traffic आने लग जाता हैं।

हालाँकि, SEO न केवल आपकी website की सफलता में मदद करता है।इसके साथ ही website को अच्छे से SEO करने से users को एक अच्छा experience भी मिलता है।उदाहरण के लिए, जब आप search engine ranking से related points पर ध्यान देते हैं तो Google आपकी site की search ranking को जरूर परिवर्तन करता हैं।

SEO में सबसे महत्वपूर्ण चीज़ site की page load time होता हैं।यदि आपके site का page speed बहुत ही कम होगा तो google आपकी site की ranking में परिवर्तन करता हैं वही दूसरी ओर, यदि आपके site की page loading time बहुत ही ज्यादा होगा तो google आपको दंडित भी करेगी।

अपनी site के health score पर ध्यान देने से search engine को आपके article को SERPs में अच्छी तरह से रैंक करने में मदद करता हैं।

SEO कितने types का होता हैं|Types of SEO in hindi

  • TECHNICAL SEO
  • ON-PAGE SEO
  • OFF-PAGE SEO
  • LOCAL SEO
  • MOBILE SEO

लेकिन इन सभी मे से जो सबसे महत्वपूर्ण हैं वह technical seo, on page seo और off page seo और सभी प्रकार का SEO अलग-अलग समय पर अलग-अलग तरीके से किया जाता है।

Technical Seo

Technical SEO में हम अपने ब्लॉग को SEO-friendly बनाते हैं और ब्लॉग पर टेक्निकल SEO करने का लक्ष्य सिर्फ इतना है कि Search Engine Crawlers आपके ब्लॉग को बिना किसी परेशानी के क्रॉल और इंडेक्स कर सके।अपने ब्लॉग के बारे में सर्च इंजन को बताने के लिए ब्लॉग पर टेक्निकल SEO करना बहुत ही जरूरी हैं।

नीचे आपको कुछ points के जरिए बताता हूं कि इसमें हमें क्या करना चाहिए जिससे आप बेहतर तरीके से समझ पाएंगे कि ब्लॉग पर तकनीकी एसईओ कैसे किया जाता है।

  1. Robots.txt फ़ाइल को चेक और ऑप्टिमाइज़ करें ताकि सर्च इंजन आपकी वेबसाइट को सही तरीके से एक्सेस कर सकें।
  2. Google search console पर अपना domain जोड़ें और सत्यापित करें।
  3. एक sitemap बनाएं और उसे Google Search Console में सबमिट करे।
  4. Blog के URL structure को बेहतर तरीके से ऑप्टिमाइज़ करें।
  5. SEO freindly web design का पालन करें, मतलब website के डिजाइन को SEO फ्रेंडली बनाये ताकि आपका website के 1st page पर रैंक करने लगे।

Video से जाने Technical seo kya hai



On page seo kya hai|ऑन पेज एसईओ क्या हैं?

On page seo में वे सभी चीज़े शामिल हैं जो आप HTML source code में पाए गए pages या post और website के design को बदल कर एक professional look देने को ही on page seo बोलते हैं।इसमें readers के लिए सर्वोत्तम user experience बनाने के लिए सभी चीजें शामिल हैं।SEO को समझने और कैसे काम करता है, इसके लिए ऑन-पेज रणनीति को समझना बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है।

On page seo में निम्नलिखित points शामिल हैं:

  1. Title tag
  2. Meta description
  3. Internal linking
  4. H1, H2 और H3 tag
  5. Alt text
  6. Keyword density
  7. Anchor text
  8. Url
  9. Tags
Onpage Seo kya hai

On page seo को समझने के लिए ये चीज़ों का समझना बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।

  • अच्छी तरह से article लिखें जो user को value provide करती हो।जो भी content लिखते हो वो valuable हो, user को समझने में आसानी हो, easy to read हो।
  • URL, titles, sub title, में keyword का उपयोग करें।
  • Content को स्पष्ट करने और search इंजन results से post में click करने के लिए वर्णनात्मक और attractive meta description और शीर्षक लिखें।
  • एक अच्छी layout का इस्तेमाल करें जो लोगो को आपकी article को पढ़ना में आसान बनाता है।
  • Website की page speed को बेहतर करें।
  • Image के alt text और file name पर अपने article का keyword का इस्तेमाल जरूर करें।
  • Article की लंबाई कम से कम 2000 word से कम की न हो।

Video से जाने On page seo kya hai



Off page seo kya hain|ऑफ पेज एसईओ

Off page seo आपकी साइट के उन सभी कार्यों को संदर्भित करता है जिन्हें आपके डोमेन से हटा दिया गया है। इसमें सभी एसईओ तत्व और तकनीकें शामिल हैं जिनका उपयोग आपकी साइट के मूल्य और प्रतिष्ठा को बाहरी डिजिटल प्रस्तुतियों से साबित करने के लिए किया जाता है, जिसमें प्रतिष्ठित वेबसाइटों, निर्देशिकाओं और बहुत कुछ शामिल हैं।

ऑफ-पेज एसईओ तत्वों में निम्नलिखित शामिल हैं:

  • External backlinks
  • Branding of site
  • Social media
  • Powerful moment
  • Guest posting
  • Anchor text from outer website
Offpage seo kya hai

अपनी site authority को बढ़ाने के लिए और google search में अपनी visibilty बढ़ाने के लिए निम्नलिखित off page technique का उपयोग करें:

  • दूसरी high authority वेबसाइटों से high quality backlinks प्राप्त करें।
  • Guest posting के लिए article लिखे और विकसित करें जिसे आप अपनी साइट से वापस लिंक कर सकते हैं।
  • सभी sites को अपने social media से जरूर जोड़े ताकि आपकी साइट को search.

Video से जाने Off page seo क्या हैं?




सर्च इंजन कैसे काम करता हैं?|How search Engine works in hindi?

Google और Bing जैसे सर्च इंजन वेब पेजों को क्रॉल करने के लिए Bots का इस्तेमाल करती हैं जो प्रत्येक website के page और posts के बारे में जानकारी को इकठ्ठा करती है और फिर उसे Google search engine में index करती है।

फिर Google की algorithm उनसभी pages और posts का विश्लेषण करके यह निर्धारित करता है कि search result में pages और posts को किस position में दिखाया जाना चाहिए।


Website के लिए SEO क्यों जरूरी है?|Why Seo is important for website?

SEO का मतलब तो आप समझ ही गए होंगे।आइए अब जानते हैं कि ब्लॉग पर SEO करना क्यों जरूरी है?

Blogging शुरू करने के बाद, आपको एक बहुत ही उच्च गुणवत्ता वाली पोस्ट क्यों प्रकाशित करनी चाहिए? अगर आप अपने ब्लॉग का SEO नहीं करते हैं तो आपका website google search result पर दिखाई नहीं देगा और जो भी keyword पर आप post लिखते है और अगर वह सर्च रिजल्ट पर नहीं आएगा उस पर अगर आप पोस्ट लिखेंगे तो उस पर विजिटर कैसे आएंगे?

SEO की मदद से आप search engine को अपने पोस्ट के बारे में बता सकते हैं कि आपने किस कीवर्ड पर पोस्ट लिखा है।सर्च इंजन आपके content को अपने डेटाबेस में store करके आपके post को google search result में दिखाना शुरू करने लगेगा।

और जब भी आपका keyword और उससे संबंधित कीवर्ड सर्च इंजन पर सर्च किया जाता है, तो यह आपके ब्लॉग को सर्च इंजन रिजल्ट पेज (SERPs) पर दिखाता है।

अपने ब्लॉग की सामग्री को लोगों तक पहुँचाने के लिए आपको SEO की तकनीकों को समझना होगा।Search engine optimisation की मदद से आप अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा लोगों को दिखा सकते हैं और अपने ब्लॉग पर organic visitor को आसानी से ला सकते हैं

Search engine optimisation क्यों जरूरी हैं?

निम्नलिखित चीज़ों को प्राप्त करने के लिए SSEOजरूरी है:

  • सर्च इंजन से वेबसाइट पर फ्री ट्रैफिक लाएं।
  • Users और search engines के लिए वेबसाइट को सही ढंग से व्यवस्थित करना।
  • Websites को users/customers के लिए अधिक आकर्षक बनाना-
  • Website को Google के प्रथम पेज पर लाने 
  • वेबसाइट की crawling और क्रॉल दरों में सुधार करने के लिए

SEO के क्या क्या फायदे हैं|Benifits of SEO in hindi.

  1. SEO के कारण, आपका website Google और अन्य search engine पर rank करने लगता है।
  2.  यदि SEO सही से किया जाए तो Posts SERPs में उच्च रैंक प्राप्त करने लगता है और यह ब्लॉग की ranking, domain authority और Income तीनो है।
  3. website में organic visitors बढ़ना शुरू हो जाएगी।
  4.  Blog को high-quality dofollow backlinks मिलेंगे।
  5.  Search Engine से आने वाले traffic आपके posts को Social media पर भी जरूर शेयर करेंगे जिससे Blog पर social media से भी traffic आना शुरू हो जाएगा।
  6.  Seo आपकी website की ranking और traffic दोनों increase करेंगी।Ultimately आपकी website की earning भी बढ़ना शुरू हो जाएगी।

Black Hat Seo और White Hat Seo

Black hat seo और White hat seo दो प्रकार का seo हैं।चलिए black seo और white hat seo के बारे में detail से जानते हैं।

Black Hat Seo

बहुत से शुरुआती लोग सोचते हैं कि ब्लैक हैट SEO एक प्रकार का SEO है।

सर्च इंजन algorithm को चकमा देने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कोई भी गतिविधि को Black Hat SEO कहते है।

या आसान भाषा में कहें तो अगर हम किसी भी कंटेंट को गूगल guidelines के खिलाफ सर्च इंजन पर रैंक करने की कोशिश करते हैं तो हम उसे black hat technique कह सकते हैं।

और ब्लैक हैट SEO तकनीक से आपके ब्लॉग की रैंक नीचे हो जाती और साथ ही आपकी website को google search result से प्रतिबंधित कर दिया जाता हैं।

White Hat SEO क्या है?

इस तकनीक में website owner को गूगल पॉलिसी के तहत ही वेबसाइट बनाकर आर्टिकल लिखना होता है। यह एक सामान्य SEO है जिसके बारे में हम सभी अच्छे से जानते हैं। 

इस तरह का SEO On-Page SEO और Quality Backlinks का उपयोग करती है जिसमें blogger का मुख्य उद्देश्य आपके Google नियमों का पालन करना और उन्हें सही तरीके से search result के शीर्ष स्थान पर लाना है।


Important terms in SEO

SEO एक बहुत बड़ी चीज है और इसे अच्छे से समझने के लिए आपको सभी seo से related सभी words के बारे में पता होना चाहिए।

नीचे मैं आपको कुछ महत्वपूर्ण SEO terms के बारे में बताऊंगा, जो हर blogger को पता होना चाहिए।

  1. Pagerank: पेजरैंक एक एल्गोरिथम है।Web पर कौन से  महत्वपूर्ण Pages हैं, और यह कितने में रैंक है, यह देखने के लिए Google pagerank में दर्शाता है।
  2. Backlinks: ये वो लिंक होते हैं जो आपकी साइट पर दूसरी साइट्स से आते हैं।जिस site की Dofollow backlinks जितने अच्छी होगी, वेब पेजों की सर्च रैंकिंग उतनी ही बेहतर होगी।
  3. Robots.txt: Robots.txt एक फाइल है, इसके इस्तेमाल से सर्च इंजन बोट्स को बताता है कि आपकी वेबसाइट का स्ट्रक्चर कैसा है।
  4. Keyword density: किसी ब्लॉग पोस्ट में किसी कीवर्ड को जितनी बार जोड़ा गया है, उसे कीवर्ड घनत्व कहा जाता है और keyword density SEO का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है।
  5. Keyword stuffing: जैसे की हम जानते है कि SEO के लिए कीवर्ड डेंसिटी बहुत जरूरी है।लेकिन अगर कोई कीवर्ड जरूरत से ज्यादा जोड़ा जाता है तो उसे keyword stuffing कहते हैं और यह Black Hat SEO का पहला step है।
  6. Title tag: Title टैग का अर्थ है webpages का शीर्षक टैग और SEO के लिए यह बहुत जरुरी है.
  7. Meta tags: इसके इस्तेमाल से सर्च इंजन को पता चल जाता है कि आपकी पोस्ट किस बारे में है।
  8. SERPs: SERPs का फुल फॉर्म सर्च इंजन रिजल्ट पेज होता है। और यह वही पेज दिखाता है जो गूगल सर्च इंजन पर सर्च कीवर्ड और उसकी संबंधित होते हैं।

Backlinks क्या हैं|What is backlink in hindi?

Backlinks एक प्रकार का लिंक होता है जो एक वेबसाइट को दूसरी वेबसाइट से मिलता है। बैकलिंक्स का सर्च इंजन रिजल्ट में वेबसाइट की प्रमुखता, गुणवत्ता पर बहुत ही ज्यादा प्रभाव डालता है, यही वजह है कि website की SEO ranking में सुधार के लिए बैकलिंक्स को बहुत उपयोगी माना जाता है।

Search इंजन परिणाम दिखाने के लिए कई कारकों का उपयोग करके उनकी रैंकिंग की गणना करता है लेकिन कोई नहीं जानता कि सर्च इंजन results को लिस्ट करते समय backlinks को कितना महत्व देते हैं। हालांकि हम सभी जानते हैं कि बैकलिंक्स बहुत जरूरी हैं।

बैकलिंक्स हमेशा ही natural होने चाहिए, इसका मतलब है कि अपनी खुद की वेबसाइट के बैकलिंक्स बनाने के लिए fake तरीकों का इस्तेमाल नहीं करें, लिंक सही होना चाहिए, लिंक की गुणवत्ता अधिक महत्वपूर्ण है। आप जो भी लिंक बनाएं, इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वह एक अच्छी Domain Authority से हो ताकि आगे जाकर आपकी साइट में कोई गड़बड़ी न हो जैसे कि spam score न बढ़ जाये।

Internal linking क्या है?

Internal linking, अपनी वेबसाइट के ब्लॉग पोस्ट में आर्टिकल लिखते समय आप अपने दूसरे ब्लॉग पोस्ट से संबंधित टॉपिक का लिंक देते हैं तो उसे internal linking कहते हैं।Internal linking को hyperlinking भी कहा जाता है।

क्या आप जानते हैं कि Google का Search Engine आपकी Website तक कैसे पहुंचता है? 

नहीं, तो मैं आपको बता दूं कि अगर आपकी वेबसाइट के पेज या पोस्ट आपकी खुद की वेबसाइट या किसी अन्य वेबसाइट के ब्लॉग से लिंक हैं, तो Google उसे ढूंढ पाएगा। यह आसान है।

Internal लिंक का उपयोग मुख्य रूप से वेबसाइट की रणनीति बनाने के लिए किया जाता है। इससे आपकी वेबसाइट का एक ब्लॉग आपके दूसरे ब्लॉग और आपके visitors से जुड़ जाता है, अपने इंटरनल लिंक के जरिए आप वेबसाइट के अलग-अलग पोस्ट का इस्तेमाल करते हैं ताकि आपके visitors आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा समय तक बने रहें।

यह भी ध्यान देने योग्य है कि यदि आपने अपनी वेबसाइट का SEO अच्छे से किया है, तो आपकी वेबसाइट जल्द ही Google के सर्च इंजन में rank होना शुरू कर जाएगी


FAQs on SEO Kya Hai

SEO का मतलब क्या हैं?
किसी वेबसाइट को किसी भी search engines जैसे कि Google, Bing इत्यादि में रैंक करवाना या सर्च इंजन के first page में लाना हो तो Seo की जरूरत होती हैं।Seo को search engine optimisation बोलते हैं जिसकी परिभाषा हिंदी में वेबसाइट को सर्च इंजन अनुसार optimised करना होता हैं।

Seo कितने तरह का होता हैं?
Seo मुख्यत चार तरह के होते हैं जैसे कि On page seo, Off page seo, Technical seo, Local seo होते हैं।

क्या seo के बिना वेबसाइट रैंक कर सकते हैं?
Seo किसी भी वेबसाइट की रीढ़ की हड्डी होती हैं जो कि वेबसाइट को खड़ा और दुनिया के नजर में लाने के लिए जरूरी हैं।यदि आप अपने website को रैंक करने चाहते तो उसके लिए seo जरूरी हैं।बिना seo के वेबसाइट रैंक करना नामुमकिन हैं।

SEO का full form क्या हैं?
SEO का full form Search engine Optimisation होता हैं।

Final conclusion

इस article को पढ़ने के बाद आपकों यह पता चल गया होगा कि seo क्या हैं, seo का importance क्या हैं, on page seo क्या हैं, off page seo क्या हैं।

Seo किसी भी साइट की serp ranking के लिए काफी माने रखता हैं।यदि आप seo के बारे में , seo strategy, seo tricks in 2021.

Search engine optimisation या seo site ranking का बेहतर factor हैं।

Tags; Seo kya hai, off page seo kya hai, on page seo kya hai, technical seo kya hai.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ